Thomas Alva Edision Biography Inventions And History

Thomas Alva Edision Biography Inventions And History

यह  कहानी  है  सदी  के  महान  वैज्ञानिक  की  जिनकी  सकारात्मक  सोच  ने  दुनिया  बदल  डाली।  हमारी  सबसे  बड़ी  कमजोरी  हार  मानना  है  सफलता  प्राप्त करने  का  सबसे  साधारण  तरीका  है  एक  और  बार  प्रयास   करना  और  प्रयास करते  रहना  यह  कहना  है  महान  वैज्ञानिक थॉमस  अल्वा  एडीसन  का। 

 आज  थॉमस अल्वा एडीसन  को  कौन  नहीं   जानता  है  वह  बहुत  बड़े  वैज्ञानिक  थे  उन्होंने  अपने  पूरे  जीवन  काल  के  दौरान  बहुत  सारे  अविष्कार  किये  जैसे  बिजली  का  बल्ब  इलेक्ट्रिक  मशीन  भाप  से  चलने  वाली  गाड़ी  को  बिजली  से  चलाया। 

ग्रामोफ़ोन अविष्कार  उन्ही  की  देन  है  इसके  अलवा  एडीसन  ने  बहुत  सारे  अविष्कार  करके  दुनिया  को  चौका  दिया।  उन्होंने  ने  अपने  पुरे  जीवन  काल  में 1093  अविष्कार  करके  एक  विश्व  रिकॉर्ड  बना  दिया। 

दोस्तों  हो  सकता  आप  लोगो  को  ये  सब  बाते  पहले  से  पता  हो  लेकिन  इतने  सारे  अविष्कार  करना  ये  तो  उनके  जीवन  का  बस  एक  पहलू  है  

एडीसन  का  जन्म  11 फ़रवरी 1847  अमेरीका  के  ओहायो  राज्य  मिलैन  शहर  में  हुआ  था।  उनके  पिता सामुएल  ओगडेन  एडीसन Samuel Ogden Edision(1804-1896) और  उनके  माता  का  नाम  नैन्सी  मैथ्यू इलियट  (1810 -1871) था

  एडीसन अपने  माता-पिता  के  सात  सन्तानो  में  सबसे  छोटे  थे।  जब  एडीसन  थोड़े  बड़े  हुए   तब  उनके  माता -पिता  ने  उनका  ऐडमिशन  एक  स्कूल  में  करा  दिया  लेकिन  कुछ  दिनों  बाद  स्कूल  से  शिकायत  आने  लगी। 

दरसल  बात  यह  थी  की  एडीसन  स्कूल  टीचर  से  इतने  सवाल  पूछते  थे  की  टीचर  तंग  हो  जाते  थे।  वे  समझते  थे  की  वह  सरारती  उदंड  बच्चा  है। 

यहाँ  तक  उन्हें  घर  के  बाहर  के  लोग  उन्हें  मन्दबुद्धि  बालक  समझने  लगे  और  घर  पर  उनकी  खूब  शिकायते  आने  लगी। 

Thomas Alva Edision Biography Inventions And History
Thomas Alva Edision Biography 

क्योंकी  उनके  सवाल  कुछ  इस  तरीके  से  होते  थे  यदि  पक्षी  हवा  में  उड़   सकता   है  तो  आदमी  क्यों  नहीं  उड़   सकते।  वह  बचपन  से   काफी  जिज्ञासू  थे  वो  हर  चीज  के  पीछे  छिपे  हुए  राज  जानने  की  कोशिश  करते  रहते।  वो  जो  कुछ  जानते  थे  या  सोचते  थे  उस  विषय  पर  अपना  प्रयोग  शुरू  कर  देते  थे।  इस  कारण  लोग  उन्हें  सनकी  और  पागल  समझते  थे।  

Thomas Alva Edision Biography Inventions And History

पर  वो  लोगो  के  परवाह  करे  बिना  अपने  प्रयोगो  में  जुटे  रहते  थे।  और  एक  बार  उनकी  एक  सोच  ने  लोगो  को  इतना  हैरान  कर  दिया  की  सभी  को  वास्तव  में  लगा  की  वह  एक  पागल  और  सनकी  है  और  अपने  पागलपन  में  कुछ  भी  कर  सकते  है। 

दोस्तों  हुआ  यह  था  की  उन्होंने  ने  लोगो  के  मुँह  से   सुना  हुआ  था  की  पक्षी  कीड़ा  मैकोड़ा  खाते  है  इस  लिए  वह  हवा  में  उड़ते  है  तब  उन्होंने  इस  प्रयोग  को  करना  चाहा।  वह  जिज्ञासू  बस  उनका  सत्य  जानने  के  लिए  वह  सुबह-सुबह  एक  पार्क  में  चले  गए। 

वहाँ  से  ढेरों  कीड़ो- मकोड़े  पकड़कर  ले  आये  और  उसका  एक  घोल  बना  लिया।  और  इस  घोल  को  अपने  दोस्त  को  पिला  दिया।  यह  जानने  के  लिए  दोस्त  पक्षी  की  तरह  उड़ता  है  या  नहीं   पर  इसका  नतीजा  उल्टा  निकला  दोस्त  हवा  में  उड़ा  नहीं  बल्कि  और  बीमार  पड़  गया। 

और  इस  बात  पर  एडीसन  की  खूब  पिटाई  हुई  ओर  उनपर  पाबंधियाँ  भी  लगाई  गई।  फिर  एक  दिन  की बात  है।  जब  वह  स्कूल  से  घर  आये  ओर  अपने  माँ  को  एक  कागज़  देकर  कहाँ  यह  टीचर  ने  दिया  है। 

 और  जब  माँ  ने  यह  कागज  देखा  तो  वह  एक  पत्र  था।   जिसे  पढ़कर  माँ  की  आँखों  में  आँसू  आ  गया  तब  एडीसन  ने  अपने  माँ  से  पूछा  इसमें  क्या  लिखा  है  माँ  आँसू  पोछकर  माँ  ने  कहाँ   इसमें  लिखा  है  की  आप  का  बेटा  बहुत  होशियार  है।  ओर  किसी  जीनियस  से  कम  नहीं  है। 

लेकिन  हमारा  स्कूल  Low  Level  का  है  जो  आपके  बेटे  के  लिए  यह  स्कूल  सक्षम  नहीं  है  इस  लिए  हम  इसे  नहीं  पढ़ा  सकते  इसे  आप  स्वम  शिक्षा  दो। 

जिस  समय  एडीसन की  आयु  मात्र  9  वर्ष  की  थी  तब  उनकी  माता  ने  उन्हें  प्रारम्भिक  विज्ञान  की  एक  पुस्तक  दी  थी।  जिसमे  बताया  गया  था  की  रसायन  विज्ञानं  का  कुछ  प्रयोग  घर  पर  कैसे  करे।  तब  एडीसन  ने 10  वर्ष  की  उम्र  में  अपनी  प्रयोगशाला  घर  पर  ही  बना  ली। 

परन्तु  कुछ  दिनों  बाद  उनकी  माँ  ने  किसी  बात  से  नाराज  होकर  उनका  सारा  सामान  फेक  दिया। 

इसके  बाद  उन्होंने  अपनी  नई  प्रयोगशाला  खोलने  के  लिए  उनको  पैसो  की  सख्त  जरुरत  थी।  इस  लिए  एडीसन  ने  रेल  यात्रियो  को  टिकट  वह  अख़बार  बेचने  शुरू   कर  दिया  और  एडीसन   ने  रेलगाड़ी  के  एक  खाली  डिब्बे  में  अपनी  प्रयोगशाला  बना  ली  थी। 

लेकिन  जब  वह 12  वर्ष  के  थे  तो  एक  प्रयोग  करते  समय  उनके  रसायन  निचे  गिर  गये।  और  उनके  रसायनिक  क्रिया  के  परिणाम  स्वरूप  ट्रैन  के  उस  डिब्बे  में  आग  लग  गयी  फिर  आग  तो  बुझा  दी  गयी। 

लेकिन  वहाँ  के  सुक्षा  कर्मी  ने  क्रोधित  होकर  एडीसन  के  कान  पर  एक  जोर  दार  चाटा  जड़  दिया। 

और  उसे  गाड़ी  से  भी  उतार  दिया  गया।  दोस्तों  क्या  आप  जानते  हो  ? उस  एक  तमाचे  के  कारण  एडीसन  को  ऊंचा  सुनाई  देने  लगा  और  धीरे-धीरे  उनकी  सुनने  की  क्षमता   खत्म  होने  लगी  लेकिन  उनकी   जगह  कोई  भी  होता  शायद   दुःखी  वह  निराश  हो  जाता। 

लेकिन  एडीसन  उस  बात  से  दुःखी  होने  की  वजह  खुश  हुए।  और  जन्म  हुआ  उनकी  नकारात्मक  सोच  का  क्यों  की  एडीसन  को  लगा  अब  से  उन्हें  बेकार  की  बाते  सुनाई  नहीं  देंगी  और  वह  अपने  काम  पर  ज्यादा  फोकस  कर  पाएंगे। 

Thomas Alva Edision Biography Inventions And History

  मात्र  15  वर्ष  की  उम्र  में  एडीसन  स्वम  अपने  समाचार  पत्र   की  छपाई   वह  प्रकाशन  करने  लगे  थे।  और  उसे  खुद  ही  चलती   ट्रैन  में  जाकर  बेचने  लगे  थे  और  दिन  भर  काम  करने  के  बाद  बाकी  बचे  समय  को  अपने  प्रयोगशाला   में  लगा  देते  थे। 

समय  के  साथ  एडीसन  एक  महान  वैज्ञानिक  बन  गये  और  अविष्कार  करने  लगे। 

EDISION  UNIVERSAL  STOCK  PRINTER  उनका  पहला  अविष्कार  था।  जिसे  एडीसन  बेचने  में  सफल  हुए  थे।  और  इससे  जुडी  एक  रोचक  कहानी  है।  जब  एडीसन  ने  अनुभव  किया   उनकी  अविष्कार  की  कीमत  अमेरिकन 5000 $ डॉलर  है। 

तो  वह  उसे  3000 $ डॉलर  बेचने  में  सहमत  हो  गए   थे।  लेकिन  किसी  ने  उसे  40000 $ डॉलर  में  खरीद  लिया  दोस्तों  आज  के  तारीख  में  उसका  मान  लगभग  7  लाख 50  हजार  डॉलर  से  भी   ज्यादा  है। 

यानी  लगभग  5  करोड़  ऊपर  के  बराबर  है। 

Thomas Alva Edision Biography Inventions And History
Thomas Alva Edision Biography Inventions 

उस  समय  के  हिसाब  से  वह  उतनी  बड़ी  रकम  थी  जिसे  सुनकर  एडीसन  बेहोश  होने  वाले  थे  लेकिन  उन्होंने  अपने  आप  को  सभाला  था   दोस्तों  अब  उनका  कामयाबी  का  सफर  शुरू  हो  चूका  था 

 और  उसके  बाद  उन्होंने  ने  एक  बाद  एक  अविष्कार  करना  शुरू  कर  दिया  था  और  उनके  किये  हुये  अविष्कार  में  सबसे  बड़ा  अविष्कार  है  बिजली  का  बल्ब  दोस्तों  जैसे  ही  शाम  होती  है। 

और  अँधेरा  होता  है  तो  हम  तुरंत  बल्ब  चालू  कर  देते  है  और  चारो  तरफ  उजाला  हो  जाता  है।  

लेकिन  क्या  कभी  अपने  सोचा  है  की  बल्ब  कैसे  बना  होगा  शायद  हमारे  पास  इसे  सोचने  का  वक्त  ही  नहीं  हो  लेकिन  दोस्तों  बिजली  का  बल्ब  बनाने  में  एडीसन  ने  10  हजार  बार  से  भी  अधिक  बार  असफलता   प्राप्त  की  है। 

Thomas Alva Edision Biography Inventions And History

लेकिन  वह  निराश  नहीं  हुए।  क्यों  की   वह   कहते  थे  की  हम  बिजली  को  इतना  सस्ता  बना  देंगे  की  केवल  अमीर  लोग  ही  मोमबत्तिया  जलायेंगे। . और  अपनी   कड़ी  मेहनत  और  संघर्ष  के  दम  पर  लगभग  32   वर्ष  के  उम्र  में  उन्होंने  बल्ब  का  अविष्कार  किया।  

 21th October 1879  पहला  बल्ब  पूरे  दिन  भर  जलता  रहा  दूर - दूर  तक  हजारो  लोगो  की  भीड़  इसे  देखने  आने  लगी  क्यों  की  लोगो  के  लिए  यह  किसी  चमत्कार  से  कम  नहीं   था।  और  जब  एडीसन  से  पूछा  गया  आप  दस  हजार  बार  असफल  होने  के  बावजूद  कैसे  बिना  हारे  काम  करते  रहे।  

 तो  उन्होंने  कहाँ  मैं  असफल  नहीं  हुआ  हूँ।  मैंने  दस  हजार  ऐसे  रास्ते  खोज  निकाले  जो  काम  नहीं  आते  और  जो  गलत  रास्ते  है।  उनके  इस  सकारात्मक  विचार  ने  मानव  जाति  के  लिए  एक  विशाल  कायम  कर  दिया  की  जब  तक  कोई  प्रणाम  ना  मिले। 

आगे  बढ़ो  और  तब  तक  आगे  बढ़ते  रहो  जबतक  जीत  हासिल  ना  कर  सको।

एक  दिन  की  बात  है  जब  एडीसन  फुरसत  के  छड़ो  में  अपनी  पुरानी  यादगार  वस्तुओ  को  देख  रहे  थे  तभी  उन्हें  एक  आलमारी  के  कोने  में  पुराना  खत  मिला। 

दोस्तों  वह  वही  ख़त  था  जो  उन्हें  बचपन  में  उनके  teacher  ने  दिया  था  और  उनकी  माँ  ने  उस  ख़त  को  पढ़कर  एडीसन  को   बताया  था  की  टीचर  ने  लिखा  है  की  वह  बहुत  होशियार  और  जीनियस  है।  

और  यह  कहकर  उनकी  आँखों  में  आँसू  आ  गये  थे  लेकिन  अब  उनकी  माँ  का  देहान्त  हो  चूका  था   और  एडीसन  बहुत  बड़े और  महान  वैज्ञानिक  हो  चुके  थे  और  इतना   पुराना  खत  मिलने   पर  उन्होंने  सोचा  की  जल्दी  से  देखता  हूँ। 

की  मेरे  बारे  में  और  क्या-क्या  लिखा  है  एडीसन  ने  उत्सुकता  बस  उस  खत  को  खोलकर  देखा  और  पढ़ा   लेकिन  जो  उसमे  लिखा  था  उसे  पढ़कर  एडीसन  रोने  लगे।  क्यों  की  उसमे  लिखा  था  की  आप  का  बच्चा  मेन्टली  कमजोर  है। 

उसे  अब  कभी  भी स्कूल में  ना  भेजे  दोस्तों  एडीसन  कई  घण्टो  तक  रोते  है  और  फिर  उन्होंने  अपनी  एक  डायरी  में   लिखा।  एक  महान  माँ  ने  एक  Mental  Weak  बच्चो  को  सदी  का  सबसे  Great  Scientist  बना  दिया  यही  होती  है  Positive Parents  की  Real  Power . 

दोस्तों  अगर  इन्सान  का  जन्म  हुआ  है  तो  उसे  इस  दुनिया  से  एक  ना  एक  दिन  उसे  इस  दुनिया  से  जाना  ही  पड़ता  है  और  यही  सार्वभूमिक  सत्य  है  इस  महान  वैज्ञानिक  एडीसन  ने  18 October  सन  1931  में  संसार  से  विदा  लिए। 

और  जाते - जाते  पूरे  दुनियाँ  को  रोशन  कर  गये  उनके  मौत  पर  पूरे  अमेरिका  की  लाईट  एक  दिन  के  लिए  बंद  कर  दी  गयी। 

उन्होंने  पूरी  अपनी  जिन्दगी  में  कभी  हार  नहीं  मानी  और  खुद  पर  विश्वास  किया।  वो  कई  बार  चार - चार    दिन तक  बिना  प्रयोग  किये  हुए  नहीं   सोते  थे।  दोस्तों  वो  ऐसा  मानते  थे  की  उनके  सफलता   का  राज  है   उनकी  लैब  में  कोई  घड़ी  नहीं  है। 

दोस्तों  वह  अकसर  कहाँ  करते  थे।  मैंने  अपने  जीवन  में  कभी  एक  दिन  भी  काम  नहीं  किया  वह  सब  तो  मेरे  लिए  मनोरंजन  था। 

Previous
Next Post »

Louis Pasteur Biography And History

Louis Pasteur Biography And History   19 वीं शताब्दी के जिन महान वैज्ञानिकों ने निष्काम भाव से मानवता की सेवा में अपना जीवन समर्पित कर दिया ...